सभी घोटाले देखने के लिए क्लिक करें:

S

स्मृति ईरानी MPLAD घोटाला (गुजरात )

कैग की एक रिपोर्ट ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की धोखाधड़ी की कार्रवाइयों और भ्रष्टाचार को MPLAD निधियों के साथ जोड़ा है। यह पाया गया कि उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र में श्री शारदा मज़दूर कामदार सहकरी मंडली, खेड़ा को बिना किसी तय प्रक्रिया और MPLAD दिशानिर्देशों के विपरीत 6 करोड़ रूपये मंजूर किए।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : Amar Ujala

स्पेक्ट्रम घोटालाा

कैग की रिपोर्ट में पाया गया कि मोदी सरकार में टेलीकॉम स्पेक्ट्रम्स के प्रबंधन में 69,381 करोड़ रुपये की वित्तीय अनियमितता थी। 2016 में निजी दूरसंचार व्यक्तियों के विलंब शुल्क की वसूली से बचने के कारण 45,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। 2017 में, छह साल के लिए एकतरफा अलग-अलग स्पेक्ट्रम नीलामी से सरकारी खजाने को 23,821 करोड़ रुपये का एक और नुकसान हुआ। 2018 में, सरकार ने फिर से एक विशेष दूरसंचार ऑपरेटर को माइक्रोवेव स्पेक्ट्रम आवंटित करके 560 करोड़ रुपये का नुकसान किया।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : National Herald

स्किल इंडिया घोटाला

Skill India Scam

भाजपा के भ्रष्टाचारी सिस्टम के भीतर इनके सहयोगी और बिचौलिए कौशल भारत मिशन के तहत युवाओं को प्रशिक्षित करने के नाम पर करोड़ों रुपए का सार्वजनिक धन बर्बाद कर रहे हैं। ये बिचौलिए संदिग्ध लोगों को लाभार्थियों के रूप में पेश करने के लिए आधार संख्या जैसे विवरण का उपयोग करके कौशल भारत अभियान का अनुचित लाभ उठाते हैं। सरकार द्वारा नियुक्त शारदा प्रसाद समिति ने पिछले साल अपनी रिपोर्ट में मोदी सरकार द्वारा 40 करोड़ युवाओं को स्किल करने का एक अविश्वसनीय लक्ष्य निर्धारित करने की आलोचना की थी। जहां तक श्रमिकों को प्रशिक्षित करने का सवाल था, समिति ने पाया कि पिछले दो वर्षों में मोदी सरकार अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में असफल रही थी। कौशल विकास प्रबंधन प्रणाली (एसडीएमएस) पोर्टल पर दर्ज आंकड़ों के अनुसार 10.07.2018 तक, देश भर के विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षित 50 लाख उम्मीदवारों में से केवल 9.68 लाख लोगों को ही रोजगार मिल पाया था।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : Indiatoday

बीज घोटाला (झारखंड)

Seed scam (Jharkhand)

झारखंड के पूर्व कृषि मंत्री और भाजपा नेता सत्यानंद भोक्ता को 2003-05 के दौरान हुए एक बीज घोटाले में गिरफ्तार किया गया था। आवश्यक प्रक्रियाओं का पालन किए बिना अपनी पसंद की कंपनियों से बीज खरीदने के लिए सार्वजनिक धन का दुरुपयोग किया गया था।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : Daily Postz

सुजलाम सुफलाम योजना घोटाला (गुजरात)

SSY scam (Gujarat)

कैग की रिपोर्ट ने सुजलाम सुफलाम योजना के निष्पादन में अनियमितताओं की ओर इशारा किया, जिसका लक्ष्य बेहतर जल संसाधन प्रबंधन सुनिश्चित करना है। परियोजना के पूरा होने में 452.5 करोड़ रुपये बर्बाद करने के बाद भी, गुजरात सरकार परियोजना को पूरी करने में बुरी तरह विफल रही। उन्होंने 458.50 करोड़ रुपये की अनुमानित राशि के मुकाबले 911 करोड़ रुपये खर्च किए।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : India Today

स्वान एनर्जी-जीएसपीसी घोटाला (गुजरात)

Swan Energy-GSPC scam (Gujarat)

पिपवाव पावर कंपनी (गुजरात राज्य पेट्रोलियम निगम) के 49% शेयर बगैर निविदा आमंत्रित किए स्वान एनर्जी को 381 करोड़ रुपये के लिए बेचे गए थे। दूसरे शब्दों में, स्वान एनर्जी को 381 करोड़ रुपये का निवेश करने के बाद 14,296 करोड़ रुपये की सरकारी अनुमति मिल रही थी।

अधिक पढ़ें

तस्वीर साभार : Daily Postz